मुख्‍य सामग्री पर जाएं
HPCL Rajasthan Refinery Limited

हमारे निदेशक मंडल

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा नामांकित गैर-कार्यकारी निदेशक

श्री. एम. के. सुराणा अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक

श्री मुकेश कुमार सुराणा ने 01 अप्रैल, 2016 से, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यभार ग्रहण किया है। इससे पहले वे सितंबर 2012 से एचपीसीएल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी प्राइज़ पेट्रोलियम लिमिटेड कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में कार्यरत थे।

श्री सुराणा वर्ष 1982 में एचपीसीएल में शामिल हुए थे। वे मैकेनिकल इंजीनियर हैं तथा वित्तीय प्रबंधन में उन्होंने मास्टर्स डीग्री हासिल की है। पेट्रोलियम उद्योग में 33 वर्ष से अधिक अपने करियर के दौरान श्री सुराणा ने रिफाइनरियों, कॉर्पोरेट, सूचना प्रणाली और एचपीसीएल में कारोबार की कई जिम्मेदारीयां निभाई हैं। उन्होंने बारीकी से बिजनेस प्रोसेस री-इंजीनियरिंग, मेजर परियोजनाओं के कार्यान्वयन, रिफाइनरी संचालन, निगम के विस्तृत ईआरपी कार्यान्वयन, अधिग्रहण और अपस्ट्रीम संपत्ति का प्रबंधन इत्यादि योजनाएं तैयार की हैं।

श्री सुराणा को घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल और गैस के कारोबार में व्यापक अनुभव है, और उनके व्यावसायिक कौशल, नवीन विचारों और जन-केंद्रित नेतृत्व के लिए वह प्रसिद्ध हैं। उन्होंने टीम के सशक्त प्रदर्शन के लिए सकारात्मक और एक साझा दृष्टिकोण अपनाया है। वे एचपीसीएल में विस्तृत कॉर्पोरेट ईआरपी कार्यान्वयन टीम के एक सदस्य थे जो वर्तमान में एचपीसीएल के सभी व्यावसायिक लेनदेन का मुख्य आधार है।

एक प्रमाणित योग्यता निर्धारक और एक परियोजना प्रबंधन व्यावसायिक श्री सुराणा तेल और गैस क्षेत्र के महत्वपूर्ण विभिन्न उद्योगों में सक्रिय हैं।

श्री. पी. के. जोशी निदेशक - मानव संसाधन

श्री. पुष्प कुमार जोशी ने दिनांक 01 अगस्त, 2012 से प्रभावी निदेशक - मानव संसाधन के रूप में कार्यभार संभाला है। इससे पहले वे मानव संसाधन विभाग में महत्वपूर्ण पदों पर कार्यरत रह चुके हैं, जैसे - कार्यकारी निदेशक - मानव संसाधन विकास, और प्रमुख - मानव संसाधन, विपणन विभाग।

विधि में स्नातक और एक्सएलआरआई, जमशेदपुर के पूर्व छात्र, श्री. पुष्प कुमार जोशी 1986 में एचपीसीएल में शामिल हुए थे। तब से वह मानव संसाधन और औद्योगिक संबंध के क्षेत्र में विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर एचपीसीएल के प्रधान कार्यालय, विपणन और रिफाइनरी प्रभागों में काम कर चुके हैं।

कर्मचारी उन्मुख और उच्च प्रदर्शन संस्कृति के उद्देश्य से रचाई गई मानव संसाधन की प्रमुख नीतियों और प्रथाओं के निर्माण एवं परिनियोजन के लिए श्री. जोशी उत्तरदायी है।

अक्षय परियोजना - नेतृत्व विकास कार्यक्रम, उत्पादकता में सुधार की पहल, आंतरिक ग्राहकों की देखभाल के लिए सूचना तकनीक की प्रभाव क्षमता को सुधारना, विभिन्न तकनीकी और व्यवहार प्रशिक्षण कार्यक्रम, मानव संसाधन- बिजनेस प्रोसेस पुनर्रचना (BPR), JDE (मानव संसाधन) का कार्यान्वयन, स्वास्थ्य प्रबंधन प्रणाली, एचआर ग्रीन क्रेडिट जैसी एचपीसीएल की विभिन्न मानव संसाधन प्रथाओं को , व्यापार को ध्यान में रखकर, उन्होंने नेतृत्व किया है।

श्री. विनोद एस शेनॉय निदेशक - रिफाइनरिज़

श्री विनोद एस शेनॉय ने 1 नवम्बर 2016 से इन्होने रिफाइनरिज़ - निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला हैं| इससे पूर्व वे एचपीसीएल रिफाइनरीज़ के समन्वय के महाप्रबंधक थे।

आईआईटी बॉम्बे से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक, श्री विनोद शेनॉय ने जून 1985 से एचपीसीएल के साथ अपने कैरियर की शुरुआत की है| अपने कैरियर के 31 सालों के दौरान, श्री शेनॉय ने रिफाइनरी प्रभागों और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कॉर्पोरेट विभागों में विभिन्न पदों पर कार्य किया है और उन्हें पेट्रोलियम उद्योग का व्यापक अनुभव है|

श्री आर. केसवन निदेशक - वित्त

श्री आर. केसवन ने 5 सितंबर, 2019 से निगम के निदेशक - वित्त के रूप में पदभार संभाला। वह निगम के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) भी हैं। निदेशक - वित्त के रूप में उनकी नियुक्ति से पहले, श्री आर. केसवन कार्यकारी निदेशक थे - 4 वर्षों के लिए निगम के कॉर्पोरेट वित्त। वह इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के एक साथी सदस्य हैं।

श्री केसवन ने कॉर्पोरेट लेखा, लेखा परीक्षा, ट्रेजरी प्रबंधन, जोखिम प्रबंधन, बजट, मूल्य निर्धारण, कॉर्पोरेट रणनीति और मार्जिन प्रबंधन, विभिन्न विपणन एसबीयू में वाणिज्यिक प्रमुखों आदि को कवर करने वाले वित्त पर विभिन्न क्षेत्रों को संभालने में 3 दशकों से अधिक का समृद्ध अनुभव प्राप्त किया।

उनके पास अपने क्रेडिट के लिए विभिन्न शैक्षणिक अंतर हैं और इन-हाउस क्षमता बिल्डिंग सेमिनार और कार्यशालाओं में एक प्रमुख तकनीकी वक्ता हैं। उन्होंने विभिन्न प्रकाशनों में कॉर्पोरेट हित के लेखों का योगदान दिया है।

श्री निरंजन आर्य आईएएस

श्री निरंजन आर्य राजस्थान कैडर के 1989 बैच के एक आईएएस अधिकारी हैं, वर्तमान में वे राजस्थान सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव, वित्त, आबकारी और कराधान विभाग के रूप में सेवारत हैं। वह अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर हैं। उन्होंने जैसलमेर, बीकानेर, नागौर, अजमेर और कोटा के कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य किया है। उन्होंने भरतपुर और जयपुर के संभागीय आयुक्त का पद भी संभाला है। उन्होंने राजस्थान सरकार में सचिव / आयुक्त / प्रमुख सचिव / अतिरिक्त मुख्य सचिव के रूप में विभिन्न विभागों में वित्त, वाणिज्यिक कर, परिवहन, सीएमओ के विभागों में कार्य किया है।

उन्हें 7 जनवरी 2019 से निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।

श्री दिनेश कुमार आईएएस

श्री दिनेश कुमार, IAS खान और पेट्रोलियम विभाग, राजस्थान में सरकार के सचिव हैं और उन्हें 22 नवंबर 2019 से निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।

श्री दिनेश कुमार राजस्थान कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी हैं, वे सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक हैं। उन्होंने सिरोही, अलवर और झुंझुनू जिलों के कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य किया है। उन्होंने राजस्थान सरकार की विभिन्न क्षमताओं में सार्वजनिक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग और भूजल, स्थानीय स्व-सरकारी विकास, मुख्यमंत्री कार्यालय और आबकारी विभाग के विभागों में कार्य किया है। उन्होंने कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार नई दिल्ली में संयुक्त सचिव के रूप में भी कार्य किया है।

Hindi